प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश तीव्र गति से कर रहा है विकास – मुख्यमंत्री

0
19

कहा, देश की आजादी के 75 साल बाद भी पिछली सरकारों ने अंग्रेजों के बनाए हुए कानून नहीं बदले

खबर खास, चंडीगढ़ :

हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले 10 वर्षों में भारत का नाम विश्व में रौशन हुआ है और आज देश तीव्र गति से विकास कर रहा है। जबकि आजादी के 60 वर्षों के बाद तक भी एक ही पार्टी का शासन रहने के बावजूद भी जिस गति से विकास होना चाहिए था उस गति से विकास नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री आज उनके निवास स्थान संत कबीर कुटीर पर डेरा बाबा बुमन शाह सिरसा के बाबा ब्रह्म दास की अगुवाई में आए कांबोज समाज के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर कांबोज समाज के प्रतिनिधियों ने 31 जुलाई को डेरा बाबा बुमन शाह सिरसा में मनाए जाने वाले शहीद उद्यम सिंह के बलिदान दिवस पर आने का निमंत्रण दिया, जिसे मुख्यमंत्री ने सहर्ष स्वीकार कर लिया।

नायब सिंह ने कहा कि जिस व्यक्ति ने अपना पूरा जीवन मां भारती को समर्पित किया उस व्यक्ति के बलिदान दिवस पर शामिल होना उनके लिए सौभाग्य की बात है। सरदार उद्यम सिंह के जीवन से युवा पीढ़ी को प्रेरणा लेनी चाहिए और समाज हित में कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि 19 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग में हुए हत्याकांड का बदला लेने का संकल्प बहादुर बालक सरदार उद्यम सिंह ने लिया और उन्होंने लंदन में जनरल डायर को गोली मारकर अपने इस संकल्प को पूरा किया।

नायब सिंह ने कहा कि देश को आजाद हुए 75 वर्ष हो गए और आज तक भी हम अंग्रेजों के बनाए हुए कानूनों का बोझ ढो रहे थे, पिछली सरकारों ने कानून बदलने पर कभी ध्यान ही नहीं दिया। आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने अंग्रेजों के जमाने के चले आ रहे कानूनों को बदलने का काम किया है और 1 जुलाई, 2024 से नए कानून लागू भी हो गए हैं। इसी प्रकार, सीएए का कानून भी लाया गया जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में भारतीय मूल के अल्पसंख्यक लोगों को भारत की नागरिकता देने का काम करता है। परंतु विपक्ष ने इस कानून को लेकर भी जनता को गुमराह करने का काम किया।

विपक्ष के पास बोलने के लिए कुछ नहीं, केवल झूठ की राजनीति कर रहे हैं

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष के पास बोलने के लिए कुछ भी नहीं, है, वे केवल झूठ की राजनीति कर रहे हैं। विपक्ष ने चुनाव में भी झूठ बोलकर जनता को बरगलाने का काम किया कि अगर श्री नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री बन गए तो वे संविधान और आरक्षण को खत्म कर देंगे। जबकि पिछले 10 वर्षों से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस देश को संविधान के अनुरूप ही चलाया है। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहाकि संविधान की मूलभावना के साथ सबसे पहले छेड़छाड़ पिछली सरकार ने ही की थी, जब संविधान में धारा 370 को जोड़ा गया। उस समय संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर ने इस धारा 370 को संविधान में जोड़ने का विरोध किया था। उन्होंने कहा कि आज भी विपक्ष के नेता विभिन्न मौकों पर संवैधानिक पीठों, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष का अपमान करते हैं, तो उनसे पूछना चाहिए कि उस समय लोकतंत्र कहां है, सदन की मर्यादा कहां है और संविधान कहां है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here